Zindagi Zindagi

Just another weblog

319 Posts

2483 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 9626 postid : 1311589

गीतिका

Posted On: 2 Feb, 2017 कविता में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

मिल कर हमें यहाँ पर अब गीत गुनगुनाना
जब प्यार ज़िन्दगी से तो प्रीत है निभाना
,
दिन रात याद करते न रूठना कभी तुम
तुम जान हो हमारी अब छोड़ कर न जाना
,
शिकवे गिले न करना यह ज़िन्दगी सुहानी
मन में हमें छुपा लो अब साथ है ज़माना
,
चलते रहें सदा हम मिल साथ साथ साजन
तुम देखना न मुड़ कर मत प्यार तुम भुलाना
,,
यह ज़िन्दगी हमारी चलती रहे सदा यूँ
फिर तुम कभी न साजन यह प्यार आज़माना

रेखा जोशी

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran