Zindagi Zindagi

Just another weblog

318 Posts

2483 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 9626 postid : 1140635

मधुरस बिखेरता आया मधुमास

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आया ऋतुराज
मौसम बहारों का
हौले हौले बह रही
संगीतमय लहर
दे रही हिलोरे
मदमस्त बसंती पवन
झूम रहे धरा पर
पीले पीले फूल.
.
मन में उमंग लिये
उपवन में
मुस्कुराते हुए
गुनगुना रहे भँवरे
लहराते धरा पर
खिलखिला रहे
पीले पीले फूल
.
मौसम ने ली अंगड़ाई
छाया चहुँ ओर
बसंती रंग
कुहक रही कोयलिया
अंबुआ की डाल पे
खेतों खलिहानों में
नाच उठी सरसों
इतरा रहे धरा पर
पीले पीले फूल
.
मधुरस बिखेरता
आया मधुमास
लहराये चुनरिया
पिया मिलन की आस
गोरी के आँचल तले
शरमा रहे
पीले पीले फूल
.
रेखा जोशी

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Jitendra Mathur के द्वारा
February 24, 2016

बहुत सुंदर, बहुत मोहक, बहुत भावभीनी कविता । प्रकृति की सुषमा और सुगंधि से ओतप्रोत । बधाई रेखा जी ।


topic of the week



latest from jagran